लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Latest post

नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनवाने के लिए मोदीभक्त बन फर्जी खबर छाप रहा दैनिक जागरण!

2014 में रुपये की क्या धमक थी। डॉलर को धमकियाँ मिल रही थीं। साधु संत तक ट्विट करने लगे थे कि मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे तो एक डॉलर चालीस रुपये का हो जाएगा। एंटायर पोलिटिकल साइंस वाले नरेंद्र मोदी तक रुपये…

प्रधानमंत्री से पूछिए, सारे जवाब उनके पास हैं, आपस में ज़हर मत बांटिए और एकजुट रहिए

आई टी सेल का काम शुरू हो गया है। मेरा, प्रशांत भूषण, जावेद अख़्तर और नसीरूद्दीन शाह के नंबर शेयर किए गए हैं। 16 फरवरी की रात से लगातार फोन आ रहे हैं। लगातार घंटी बजबजा रही है। वायरल किया…

पुलवामा आतंकी हमला: खुद को सरजन बरकाती बन जाने से बचाइए

सरजन बरकाती. ये नाम पहली बार तब सुना था जब मैं अनंतनाग में था. साउथ कश्मीर में युवाओं के बढ़ते रेडिकलाइजेशन पर लोगों से बात कर रहा था. इस बातचीत में एक नाम बार-बार सामने आ रहा था – ‘आज़ादी…

आप देश की त्रासदी के वक़्त बस अपनी ड्यूटी ही निभा लें तो इससे बड़ी देशभक्ति नहीं हो सकती

लेखक : सर्वप्रिया सांगवान एक न्यूज़ चैनल पर मेरे रिपोर्टर दोस्त ने CRPF के जवान से बात की जो पाकिस्तान हाई कमीशन के दफ़्तर के बाहर सुरक्षा के लिए खड़े थे. विडंबना यही थी कि पाकिस्तान की साज़िशों ने उनके…

टीवी एंकर्स और नेता गिद्ध बनकर शहीदों की लाश नोचना और आपको अन्धा बनाकर भड़काना चाहते हैं

लेखक: Murari Tripathi और Mandeep Punia जम्मू में कुछ दक्षिणपंथी समूहों ने मुस्लिम बस्तियों में हमला किया है। देश के कई कोनों से खबरें आ रही हैं कि कहीं कश्मीरियों को परेशान किया जा रहा है तो कहीं मारा जा…

क्या हम इन शहादतों की क़ीमत समझ रहे हैं?

हमारे 40 जवान शहीद हुए हैं. उन्होंने ये शहादत इसलिए दी कि ये देश बचा रहे, इसकी एकता और अखंडता बची रहे. कोई भी जवान जब कश्मीर जैसी बारूदी घाटी पर तैनाती के लिए निकलता तो अपना कफ़न साथ लेकर…

पड़ताल: पुलवामा में हमला करने वाले आंतकी के साथ राहुल गांधी की तस्वीर झूठी है

पुलवामा आतंकी हमले ने सभी को दहला दिया है. इस समय विपक्ष और सरकार आतंकवाद के खिलाफ एक साथ खड़े दिख रहे हैं. लेकिन कई ओछे लोग इस मामले को अपनी घटिया मानसिकता का परिचय दे विपक्ष को बदनाम करने…

सेना के अपने इंफॉर्मर्स, खुफिया एजेंसियों के बावजूद इस तरह का हमला?

कहने का जोखिम लेना पड़ेगा. सेना पर हर हमले के साथ मुसलमानों पर निंदा करने का अतिरिक्त दबाव आ जाता है. वर्ना उन्हें चिन्हित किया जाएगा. उसके बाद बारी लिबरलों/वामपंथियों की आती है. देखा जाएगा, वो क्यों नहीं बोल रहा/रही….

जवानों पर हमले का दृश्य देखकर लोग रो रहे हैं, सत्ता को यह रुदन सुनाई देना चाहिए, आओ सामूहिक रुदालियाँ गाएं

आवेश तिवारी श्रीनगर में सीआरपीएफ़ के बहादुर जवानों पर हमले के पीछे केवल आतंकी नहीं है बल्कि इंटेलिजेंस एजेंसियों और उच्चाधिकारियों की घोर लापरवाही भी है| यह हमला हमारी सुरक्षा एजेंसियों की कार्यशैली पर भी सवाल खड़ा करता है और…

बजरंग दल अपनी संस्कृति को बचाने और वामपंथी पूंजीवादी सोच भगाने के लिये एक साथ मैदान में उतरे

फरवरी महीने की शुरूआत में बजरंग दल ने ‘कपल की पिटाई परियोजना’ के तहत 14 फरवरी की तैयारी करते हुए इंटर्नशीप के फार्म निकाले थे जिसके लिए लाखों कुंठित सिंगल युवाओं ने अप्लाई किया था। लेकिन बजरंग दल में चल…