लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Month: April 2019

व्लादिमीर लेनिन जन्मदिन विशेष: जब भगतसिंह ने कहा, ‘बस, ज़रा लेनिन से मिल लूँ’

लेनिन के आदर्शों पर भगत सिंह के भरोसे और ख़ुद को फाँसी नहीं गोली से उड़ाने की लिखित अपील। भगत सिंह, सुखदेवा और राजगुरु की फाँसी के लिए 24 मार्च की सुबह का समय तय किया गया था, लेकिन देश…

500 रुपये जुर्माने का डर दिखाकर महाराष्ट्र की महिला मज़दूरों का गर्भाशय निकाला जाता है

मेरे पीरियड्स का दूसरा दिन चल रहा है। पीरियड्स के दूसरे दिन बाकी दिनों के मुकाबले अधिक रक्तस्त्राव, पेट दर्द, पैरों और कमर दर्द की शिकायत आम है। हमारे देश के कार्यालयों में आज भी पीरियड्स लीव के नाम पर…

कोल्डड्रिंक्स घूंट फूहड़ फिल्मों के मजे लेने वाले शहरी मध्यवर्ग का पतन शुरू हो गया है!

हेमंत कुमार झा लग तो नहीं रहा कि नरेंद्र मोदी फिर से सत्ता में आ पाएंगे लेकिन यहां प्रासंगिक यह नहीं है कि वे जीत कर फिर से सत्ता में आएं या हार कर इतिहास के पन्नों में सिमट जाएं,…

यौन शोषण का आरोप: जस्टिस गोगोई ने किसे बताया है साजिश के पीछे का “बड़ा हाथ”

छुट्टी के दिन चीफ जस्टिस अगर विशेष बेंच बना कर सुनवाई करते हैं तो मामला इतना न आसान है और न ही छोटा. पहले देखते हैं कि आरोप क्या हैं. सुप्रीम कोर्ट में क्लर्क के तौर पर काम कर चुकी…

पीएम ने प्रज्ञा को हिन्दू धर्म का प्रतीक बताया, मगर बम फोड़ने वाले हिंदुओ के प्रतीक नहीं हैं!

कल प्रज्ञा ठाकुर ने हेमंत करकरे पर श्राप वाला बयान दिया. इस बयान की निंदा हुई. आईपीएस एसोसिएशन ने इसे शर्मनाक बताया. हेमंत करकरे मुंबई आतंकी हमले के दौरान आतंकियों के हाथों मारे गए. इस चुनाव में बीजेपी की हालत…

रवीश की रिपोर्ट: बहादुरगढ़ में कचरे के बीच कालोनियां हैं या कालोनियों के बीच कचरा

बहादुरगढ़ का छोटू राम नगर- चुनावों में बदलाव के नाम पर ज़ुल्म जारी रहता है, ज़ुल्मी बदल जाते हैं। कचरों के बीच कालोनी है या कालोनी के बीच कचरे, हवा में दुर्गंध इतनी तेज़ है कि बग़ैर रूमाल के सांस…

हिटलर भी बिन परिवार का फ़कीर था, विध्वंस कर झोला उठाकर चला गया

नितिन ठाकुर/नवमीत नव आज एडोल्फ हिटलर का जन्मदिन है। वरिष्ठ पत्रकार नितिन ठाकुर लिखते हैं कि हिटलर को इसलिए याद रखना चाहिए ताकि दुनिया में हमारी लापरवाही के चलते फिर कभी कोई हिटलर ना पैदा हो जाए। हिटलर पर कुछ…

भारतीयों के खून में रिश्वतखोरी है इसलिए बिकाऊ हैं

राजीव मित्तल भारतीयों के खून में रिश्वतखोरी है इसलिए बिकाऊ हैं भ्रष्टाचार मुक्त देशों में शीर्ष पर गिने जाने वाले न्यूजीलैंण्ड के लेखक ब्रायन ने भारत में व्यापक रूप से फैले भष्टाचार पर एक लेख लिखा..जानिए क्या है उसमें.. अनुवाद…

शर्मनाक: जय श्री राम के नारे लगाते हुए भीड़ ने झारखंड में आदिवासी को पीट-पीटकर मार डाला

स्टेन स्वामी 10 अप्रैल 2019 को, गुमला के डुमरी ब्लॉक के जुरमु गाँव के रहने वाले 50 वर्षीय आदिवासी प्रकाश लकड़ा को पड़ोसी जैरागि गाँव के साहू समुदाय के लोगों की भीड़ ने पीट-पीट कर मार दिया. जुर्मू के तीन…

20 हज़ार लोगों की फैमिली सड़कों पर, एयरहॉस्टेस को पहली बार रोते हुए देखा है

जेट एयरवेज का भट्ठा बैठ गया है. अस्थाई तौर पर कंपनी ने अपनी सभी उड़ानें रोक दी हैं. बुधवार रात दस बजे अमृतसर से मुंबई के लिए अंतिम फ्लाइट टेक ऑफ किया. कंपनी के पास ईंधन से लेकर दूसरी जरूरी…