लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Month: April 2019

क्या भ्रष्टाचार और मोदी के फर्जी राष्ट्रवाद से लड़ने के लिए सबसे सटीक हैं तेजबहादुर यादव?

बनारस की सड़कों पर अकेले कुछ साथियों के साथ वोट और नोट मांगने वाले तेज बहादुर यादव को, गठबंधन का प्रत्याशी बन जाने के बाद देखते देखते काफी गम्भीरता से लिया जाने लगा है। राष्ट्रवाद के अपने ही बुने जाल…

किसे ज़्यादा चंदा दे रहे हैं औद्योगिक घराने? टाटा का चंदा 25 करोड़ से बढ़कर 500 करोड़ हुआ

आज आपके सामने अलग-अलग समय पर छपे दो ख़बरों को एक साथ पेश करना चाहता हूं। एक ख़बर 7 दिन पहले की है जो इंडियन एक्सप्रेस में छपी थी और दूसरी ख़बर आज की है जो बिजनेस स्टैंडर्ड में छपी…

पवनहंस घोटाला: सरकारी हेलीकॉप्टर कंपनी डूबी, नहीं मिली कर्मचारियों को सैलरी

तो अब फाइनली सरकारी कम्पनी पवनहंस भी डूब रही है। बीएसएनएल, इंडिया पोस्ट (डाक तार विभाग), एयरइंडिया के बाद पवनहंस का नम्बर लगा है। पवनहंस मूल रूप से हेलीकॉप्टर सर्विसेज के लिए जानी जाती है। आपको आश्चर्य होगा कि चुनाव…

हमारी फसलें जलकर तबाह हो रही हैं फिर भी मीडिया और नेताओं के लिए यह मुद्दा क्यों नहीं है?

6 अप्रैल को आग लगने से मध्यप्रदेश में किसानों की 5000 एकड़ गेहूं की फसल राख। पहले मध्यप्रदेश से बहुत बड़ा रक़बा फ़सल जलने की ख़बर आई और अब हरियाणा से। इतना बड़ा रक़बा जल कर स्वाः हो गया, किसान…

पत्रकारिता के नाम पर मुझसे औरतों, विपक्षी दलों और मुसलमानों के खिलाफ़ खूब नफ़रत फैलवाई गई

अनुराग आनंद सोचा था नहीं लिखूंगा लेकिन ऑपइंडिया में काम करने वाले कुछ दो कौड़ी के दलालों ने लिखने के लिए मजबूर किया। ऑपइंडिया में मैंने एक महीने कुछ दिन काम किया था। मैंने यहाँ सिर्फ इसलिए ज्वाइन किया था…

वंशवाद की राजनीति के खिलाफ़ होने के दावे करने वाली भाजपा के राजपुत्रों (वंशवाद) की पूरी लिस्ट

कृष्ण कांत लेख थोड़ा सा लंबा है, लेकिन पढ़िए तो मज़ा आ ही जाएगा। “वंशवाद की राजनीति से सबसे अधिक नुकसान संस्थाओं को हुआ है। प्रेस से पार्लियामेंट तक। सोल्जर्स से लेकर फ्री स्पीच तक। कॉन्स्टिट्यूशन से लेकर कोर्ट तक।…

बनारस से दोबारा पर्चा भर दिया मोदी जी, क्या फिर से आपको ‘मां गंगा’ ने बुलाया है?

मोदीजी ने क्योटो से पर्चा दाखिल किया है। 2014 में जब वो यहाँ आए थे तो उन्होंने कहा था न तो मैं आया हूं और न ही मुझे भेजा गया है, मुझे तो मां गंगा ने यहां बुलाया है.’ तो…

कन्हैया ने अखबारों में विज्ञापन देकर ऐसा क्या जुर्म कर दिया है जो सभी पानी पी-पीकर कोस रहे हैं?

बेगूसराय के स्थानीय अखबारों के मुख्य पेज पर आए कन्हैया कुमार के विज्ञापन पर खासा तंज किया जा रहा है जिसमें आलोचकों का मुख्य तर्क है कि क्या इस तरह कन्हैया कुमार पूंजीवाद से लड़ेंगे? लेकिन इस एक विज्ञापन के…

समझौता एक्सप्रेस: न्याय की गाड़ी पटरी से कैसे उतरी?

`हालांकि ऐसा हो सकता है कि उनका मामला लंबा खिंचे लेकिन उन्हें जरूर रिहा कर दिया जाएगा।“द कैरवैन` में फरवरी 2014 में छपी लीना रघुनाथ की स्टोरी के मुताबिक असीमानंद ने उनके साथ इंटरव्यू में आतंकी गतिविधियों में अपनी संलिप्तता…

मोदी सरकार का महाघोटाला: जेट एयरलाइंस की बर्बादी के पीछे का असली खेल

जब सारा मीडिया मोदी मोदी उदघोष में डूबा हुआ था तब इस बीच सुब्रमण्यम स्वामी का एक ट्वीट फ्लैश हुआ और बात आयी गयी हो गई. ट्वीट यह था “मैं नमो से अपील करता हूं कि वे जेटली और जयंत…