लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Month: September 2019

बलात्कारी नेताओं को संरक्षण देने वाली बीजेपी और उनके समर्थकों को शर्म क्यों नहीं आती?

सर्वदमन सांगवान बीजेपी का एक विधायक कुलदीप सैंगर बलात्कार के मामले में फंसा तो पूरी बीजेपी उसके बचाव में कुतर्क करने लगी. पार्टी का एक ‘स्वामी’, जोकि मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री रह चुका है, लॉ की एक छात्रा से…

जन्मदिन मुबारक हो कॉमरेड, तुम जो काम हमारे लिए छोड़ गए थे, हम पूरा नहीं कर पाए

खुशबू शर्मा प्रिय कॉमरेड, जानते हैं बहुत दुखी होगे तुम। तुम जो काम हमारे लिए छोड़ गए थे, हम पूरा नहीं कर पाए। तुम्हारे सपने आज भी अधूरे हैं। मेरी ही उम्र के रहे होंगे तुम जब अपने मुल्क के…

मध्यप्रदेश: दलित बच्चों की पीट-पीटकर हत्या, आरोपी ने कहा, भगवान ने सपने में दिया मारने का आदेश

मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले के भावखेड़ी गांव में दो व्यक्तियों ने दो दलित बच्चों को कथित तौर पर पंचायत भवन के सामने शौच करने पर लाठियों से पीट-पीटकर मार डाला। इस घटना के सिलसिले में मामला दर्ज कर दो आरोपियों…

ट्रम्प-मोदी भाई-भाई, दोनों बौद्धिकता विरोधी नेता हैं और दोनों चौड़े में इसका प्रदर्शन करते हैं..

हेमंत कुमार झा डोनाल्ड ट्रम्प की सरकार को नाओम चोम्स्की ने “अमेरिका के लोकतांत्रिक इतिहास की सर्वाधिक मानव द्रोही सरकार” की संज्ञा दी है। जीवित किंवदन्ती बन चुके, अमेरिका में रह रहे वयोवृद्ध विचारक चोम्स्की जब कुछ बोलते हैं तो…

हिटलर-मुसोलिनी की दोस्ती की कहानी: इतिहास ने दो तानाशाहों की दोस्ती कुछ ऐसे दर्ज की

नितिन ठाकुर आइए आज आपको दो ऐसे दोस्तों की छोटी सी कहानी सुनाता हूं जो इतिहास में दर्ज हो चुकी है। दोनों ही अपने देश में लोकप्रियता का चरम पाकर लोकतंत्र को भूल गए थे। दोनों ही ने अपने देश…

महात्मा गांधी: भारत तभी आजाद होगा जब उसके एक-एक आदमी का डर खत्म हो जाएगा

‘गांधीजी’ शब्द मैंने पहली बार कब सुना, यह बता पाना नामुमकिन है. जैसे कि और भी बहुत सी संज्ञाओं के बारे में मैं ठीक-ठीक नहीं बता सकता कि वे पहली बार कब मेरे स्मृतिपटल पर अंकित हुईं. यानी मेरे लिए…

F***ing sold out: Minister to editor, केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने संपादक को फोन पर दी धमकी

‘मैं एक सज्जन नहीं हूँ ,मैं एक पत्रकार हूँ..आप केन्दीय मंत्री हो सकते हैं,लेकिन मैं इस देश का नागरिक भी हूँ।’ ये तेवर अब पत्रकारिता में दुर्लभ हो चुके हैं……… शाम 7.50 बजे के आसपास, मंत्री बाबुल सुप्रियो ने अपने…

रवीश कुमार के सम्मान से चिढ़ क्यों!

प्रकाश के रे पिछले महीने जब रवीश कुमार को पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए प्रतिष्ठित रेमन मैगसेसे सम्मान देने की घोषणा हुई, तो देश में बड़ी संख्या में लोगों को प्रसन्नता हुई. कई मामलों में उनसे…

न कोई आंदोलन हुआ, न कोई मांग उठी, फिर अमित शाह हिंदी को ऐसा क्या देना चाहते हैं, जो उसके पास नहीं है

राकेश कायस्थ गृहमंत्री अमित शाह हिंदी को लेकर चिंतित है। वे हमेशा बातचीत में हिंदी का प्रयोग करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी के लिए कसीदे पढ़ते वक्त उनकी करतूतों’ की तारीफ कर चुके हैं। पंद्रह लाख वाले मामले कोजुमला’ बता चुके…

यूपी में तीन सरकारी कॉलेजों के बिकने के ‘टेंडर’ जारी, मध्यवर्ग की आत्म मुग्ध विचारहीनता उनके बच्चों पर बेहद भारी पड़ने वाली है

जिनके पैरों के नीचे से दरी खींची जा रही है वे आसमान में उड़ते परिंदों के पंखों की खूबसूरती पर मुग्ध हुए जा रहे हैं। इतिहास ने ऐसी आत्महंता पीढ़ी पहले कब देखी थी यह विमर्श का विषय हो सकता…