लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Lokvani

रवीश कुमार के सम्मान से चिढ़ क्यों!

प्रकाश के रे पिछले महीने जब रवीश कुमार को पत्रकारिता के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए प्रतिष्ठित रेमन मैगसेसे सम्मान देने की घोषणा हुई, तो देश में बड़ी संख्या में लोगों को प्रसन्नता हुई. कई मामलों में उनसे…

न कोई आंदोलन हुआ, न कोई मांग उठी, फिर अमित शाह हिंदी को ऐसा क्या देना चाहते हैं, जो उसके पास नहीं है

राकेश कायस्थ गृहमंत्री अमित शाह हिंदी को लेकर चिंतित है। वे हमेशा बातचीत में हिंदी का प्रयोग करते हैं। प्रधानमंत्री मोदी के लिए कसीदे पढ़ते वक्त उनकी करतूतों’ की तारीफ कर चुके हैं। पंद्रह लाख वाले मामले कोजुमला’ बता चुके…

विश्व ओज़ोन दिवस विशेष: औद्योगिक गतिविधियों के कारण ओज़ोन परत खतरे में

गोपाल राठी विश्व ओज़ोन दिवस या ‘ओज़ोन परत संरक्षण दिवस’ 16 सितम्बर को पूरे विश्व में मनाया जाता है। धरती पर जीवन को पनपने के लिए काफ़ी संघर्ष करना पड़ा है। इतिहास और भूगोल के अध्ययन से यह साफ़ है…

मोदी राज मे सबसे ज्यादा गड्ढे में कोई गया है तो वह PSU यानी सार्वजनिक क्षेत्र की सरकारी कम्पनियां

गिरीश मालवीय कोई माने या न माने पर यह सच है कि मोदी राज मे सबसे ज्यादा गड्ढे में कोई गया है तो वह PSU यानी सार्वजनिक क्षेत्र की सरकारी कम्पनियां ही हैं. ये कंपनियां भीषण वित्तीय संकट की तरफ…

आतंकवाद निरोधी दस्ता की आतंकी कार्यवाही

कृपाशंकर 8 जुलाई 2019 की सुबह 4 बजे के आस-पास हमारे किराये के घर का मेन गेट तेज-तेज से खटखटाने की आवाज हुई। मैं और मेरी पत्नी बिन्दा हड़बड़ाकर उठे और बिन्दा ने तुरन्त गेट का ताला खोला। 20-25 की…

‘भारत बहुत चिंताजनक आर्थिक मंदी में है’ – पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह

आज राजनीतिक संपादक हेमन्त अत्री ने मनमोहन सिंह से मोदी सरकार के 100 दिन पूरे होने पर सरकार की नीतियों और अर्थव्यवस्था की चुनौतियों पर बात की। उन्होंने अपनी पहले कही बात पर ही मुहर लगाते हुए कहा कि नोटबंदी…

जब इसरो के वैज्ञानिक चंद्रयान लॉन्च करने की तैयारी में लगे थे, तब सरकार ने उनकी सैलरी घटा दी थी

एक महीने पहले इसरो के वैज्ञानिकों की तनख्वाह घटा दी गई. वैज्ञानिक नाराज हुए, गुहार लगाई कि वेतन न काटा जाए, तब उनके साथ कोई नहीं आया. वैज्ञानिकों ने अपने चेयरमैन को पत्र लिखा कि हम बहुत हैरत में हैं…

मोदी जी सबसे ज्यादा नौकरी छीनने वाले प्रधानमंत्री बन गए हैं – प्रोफेसर अरुण कुमार

कृष्णकांत मोदी जी सबसे ज्यादा नौकरी छीनने वाले प्रधानमंत्री बन गए हैं. अर्थशास्त्री प्रो. अरुण कुमार ने अपने एक लेख में लिखा है कि ‘सीएमआई के आंकड़े कहते हैं कि देश में कर्मचारियों की संख्या 45 करोड़ थी, जो घट…

बदनाम करने के लिए दीपक चौरसिया ने फेक वीडियो शेयर किया तो रवीश ने कहा फैन्सी ड्रेस वाला जोकर

रवीश कुमार ट्रोल का नेटवर्क कितना विशाल हो चुका है आपको अंदाज़ा लगता ही रहता होगा। इन्हें लगता है कि ये जब चाहेंगे तभी कुछ भी फैला कर पहले दुनिया को अंधेरे में रखेंगे और फिर उसे कुएँ में धकेल…

जर्मन शासकों से प्रेरणा लेकर ही मोदी जी कह रहे हैं कि खाने के लिए रोटी नहीं है तो कसरत करो

कृष्णकांत जर्मन शासक कहते थे कि जनता को खाने के लिए रोटी नहीं है तो उन्हें सर्कस दो। मोदी जी कह रहे हैं कि खाने को रोटी नहीं है तो कसरत करो। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सर्वे 2015-16 कहता है कि भारत…