लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Lokvani

बाढ़ को मत कोसिये

पुष्यमित्र भले राज्य के 12 जिले डूबे हुए हैं, लाखों लोग बेघर हैं, दो दर्जन से अधिक लोग मर गये हैं, फिर भी मैं बाढ़ को आपदा कहने में हिचकिचाता हूं। क्योंकि हिमालय से हजारों साल से आ रही इस…

विश्वकप का टंटा खत्म, मेहनत करो चीकू, टिक-टिक माही कर लेगें और तुम 911

  दिलीप कुमार  कहते हैं कि देश पर वार और क्रिकेट में हार भारतीयों को असहनीय लगती है। विश्वकप के सेमीफाइनल में क्रिकेट टीम क्या हारी, देश-विदेश में तमाशा शुरू हो गया। जितने मुंह उतनी बातें। सारे लोग हार का ठीकरा…

सबकुछ काफी ठीक है बस अर्थव्यवस्था में नौकरी, सैलरी और सरकार के पास पैसे नहीं हैं

रवीश कुमार जून में निर्यात का आंकड़ा 41 महीनों में सबसे कम रहा है। आयात भी 9 प्रतिशत कम हो गया है। जो कि 34 महीने में सबसे कम है। सरकार मानती है कि दुनिया भर में व्यापारिक टकरावों के…

जन्मदिन विशेष: प्रभाष जोशी जोशी जी अनुकरणीय क्यों है और उन्हें पत्रकार क्यों माना जाए?

गोपाल राठी प्रभाष जोशी हिन्दी पत्रकारिता के आधार स्तंभों में से एक थे. वे राजनीति तथा क्रिकेट पत्रकारिता के विशेषज्ञ भी माने जाते थे। दिल का दौरा पड़ने के कारण गुरुवार, 5 नवम्बर 2009 मध्यरात्रि के आसपास गाजियाबाद की वसुंधरा कॉलोनी स्थित उनके निवास पर उनकी मृत्यु हो गई। प्रभाष जोशी…

नफरत ने कभी सुखद परिणाम नहीं दिया है, सिवाय बर्बादी, दुख, हिंसा, पीड़ा और अमानवीयता के

कृष्णकांत “नफ़रत की नींव पर तैयार हो रहा यह नया देश तभी तक ज़िंदा रहेगा जब तक यह नफ़रत जिंदा रहेगी, जब बंटवारे की यह आग ठंडी पड़ने लगेगी तो यह नया देश भी अलग-अलग टुकड़ों में बंटने लगेगा.” यह…

अमिता, मनीष, कृपाशंकर, बिंदा, प्रभा और बृजेश की गिरफ्तारियों के खिलाफ प्रदर्शन

हाल में देवरिया से फासीवाद विरोधी मोर्चा के कृपाशंकर व उनकी जीवनसाथी बिन्दा तथा मजदूर किसान एकता मंच के बृजेश व उनकी जीवनसाथी सावित्रीबाई संघर्ष समिति की प्रभा को यूपीएटीएस ने बिना वारंट के छापे मार कर विगत 7 जुलाई…

रावण सुनाए रामायण

सनातन धर्म से भी पुराना एक और धर्म है।वह है नदी धर्म।गंगा को बचाने की कोशिश में लगे लोगों कोपहले इस धर्म को मानना पड़ेगा। अनुपम मिश्र बिलकुल अलग–अलग बातें हैं। प्रकृति का कैलेंडर और हमारे घर–दफ्तरों की दीवारों पर…

राजस्थान: दलित और उसकी भाभी का पुलिस ने किया सामूहिक बलात्कार, नाखून उखाड़े और आंख फोड़ी

धर्मेंद्र जाटव क्या वाकई इस देश मे दलित होना गुनाह है ?? 4 जुलाई को सरदारशहर (चुरू) में एक महिला और उसके देवर नेमीचंद को पुलिस पकड़ कर थाने लाई, कानूनन अगले ही दिन उन्हें कोर्ट में पेश करना था,…

क्या महात्मा गांधी ने भगत सिंह को बचाने के कोई प्रयास नहीं किये?

नितिन ठाकुर “गांधी पर भगत सिंह को ना बचाने के आरोप पर इतिहासकार सुधीरचंद्र साफ़ कहते हैं कि…. गांधी ने लॉर्ड इरविन से तीनों क्रांतिकारियों की फांसी माफ़ करने के लिए अनुरोध किया था, मगर वो नाकाम रहे. अंग्रेज़ों ने…

रिपोर्ट: भूमिहीनों का कौन सा राष्ट्र है?

सुशील मानव/इलाहाबाद से उत्तर प्रदेश का इलाहाबाद शहर. 24 मई की शाम पांच बज रहे थे, हीरालाल नगर निगम की नई गैरेज की चारदीवारी से लगे गली में मूंज की चारपाई पर लेटे हुए थे, वहीं बगल में मंजू देवी…