लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

प्रोफेसर अपूर्वानंद

हम अंतिम दिनों वाले गांधी को याद करने से क्यों डरते हैं?

प्रोफेसर अपूर्वानंद 30 जनवरी को गांधी की शहादत का दिन कहा जाता है. बेहतर इसे गांधी की हत्या का दिन ही कहा जाना होता. लेकिन शायद हत्या को नकारात्मक और शहादत को सकारात्मक मानकर ही दूसरे शब्द को कबूल किया…