लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Ritika

यौन उत्पीड़न पर चर्चा, लेकिन महिला पैनलिस्ट बुलाना भूल गए ऐंकर!

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं। इस मामले में मुख्य न्यायधीश छुट्टी वाले दिन अपने ऊपर लगे यौन शोषण के आरोपों के लिए बेंच गठित करते हैं और खुद भी इस बेंच…

500 रुपये जुर्माने का डर दिखाकर महाराष्ट्र की महिला मज़दूरों का गर्भाशय निकाला जाता है

मेरे पीरियड्स का दूसरा दिन चल रहा है। पीरियड्स के दूसरे दिन बाकी दिनों के मुकाबले अधिक रक्तस्त्राव, पेट दर्द, पैरों और कमर दर्द की शिकायत आम है। हमारे देश के कार्यालयों में आज भी पीरियड्स लीव के नाम पर…

पितृसत्ता की नई शब्दावली- गुड फेमिनिज़म, बैड फेमिनिज़म

‘मैं तो तंदुरी मुर्गी हूं यार, गटका ले सइंया ऐल्कॉहॉल से’ फिल्म दबंग 2 के गाने ‘फेविकॉल’ पर न जाने कितने ठुमके लगे होंगे, आखिर गाना भी तो सलमान की सुपरहिट फिल्म का था। इस गाने की लाइनों को पढ़िएगा…

महिला रिपोर्टर को देखकर जब पुलिस वाला कहता है, “मैडम होटल में रुकी हो या घर में”

नौकरी का पहला साल डेस्क पर ही बीता। इस दौरान यह एहसास हो गया था कि डेस्क हो या फील्ड एक महिला पत्रकार का दोनों जगह होना अपने आप में एक चुनौती है। मसलन, अगर आप एक महिला हैं तो…

ऐ लड़की: तुम्हें लिखता-पढ़ता, आगे बढ़ता देखकर मर्दवादी अहंकार जहरीली फुंकारे क्यों मारने लगता है

ऐ लड़की, तुम्हारे विचार मायने नहीं रखते, मैं कहता हूं तुम्हारे पास अपने विचार हो ही नहीं सकते। अगर तुम्हारे पास विचार हैं भी तो वे ज़रूर किसी मर्द साथी से ही प्रभावित होंगे। अगर तुम वामपंथ, समाजवाद, मार्क्सवाद और…

महिलाओं के राजनीति में आने से मर्दों की पितृसत्ता और यौन कुंठा की गठरी क्यों खुल जाती है?

अरे सपना चौधरी राजनीति में चली गई तो स्टेज पर ठुमके कौन लगाएगा, राजनीति में शामिल होकर सपना स्टेज पर भाषण देती हुई सपना कहां जचेगी। सपना तो सपना तभी मानी जाएगी जब वह स्टेज पर तेरी आंख्यो का यो…

डियर पांच बेटियों के पापा…

रितिका यहां पांच बेटियां लिखना इसलिए ज़रूरी लगा क्योंकि पांच बेटियों का होना ही आपको खास बनाता है। रश्मि, रितिका, गोदावरी, शिप्रा और कावेरी ये पांचों नाम आपने खुद रखे थे न| यहां मुझे चर्चा उन बातों की करनी ही…