लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

इतिहास

चौधरी छोटूराम: जिसने आज़ादी से पहले किसान-मज़दूरों के कदमों में सारे हक़ लाकर रख दिए थे

राकेश सांगवान “ खुदा के बन्दे हजारों देखें , बणों में फिरते मारे-मारे मैं तो उसका बंदा बनूँगा जिसको खुदा के बन्दों से होता प्यार “ सैंट स्टीफन स्कूल (दिल्ली) के हॉस्टल में करीब 24 देहाती परिवेश के बच्चे रहते…

दुल्ला भट्टी और लोहड़ी हिन्दू-मुस्लिम-सिख, किसान और मज़दूर एकता की अटूट मिसाल हैं

अकबर के शासन काल में कुछ किसानों ने अकबर के सामने घुटने टेकने के बजाय विद्रोह का रास्ता अपनाया और जंगलों में रह कर शाही फ़ौज के साथ छापे मार लड़ाई की। इन्हीं बगावती किसानों में सबसे ज्यादा प्रसिद्द हुए…

भगत सिंह के विचारों के ख़िलाफ़ संघ ने हमेशा मकड़जाल बुना है

28 सितम्बर को भगत सिंह के जन्मदिन पर भाजपा की आईटीसेल के एक नौजवान कार्यकर्ता का ट्वीट देखा। जिसमें उस नौजवान ने उन्हें नमन करते हुए #RSS #IndianArmy #bhagatsingh ये तीन हैशटैग लगा रखे थे। शायद उस नौजवान को यह नहीं पता…