लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

समाज

आप देश की त्रासदी के वक़्त बस अपनी ड्यूटी ही निभा लें तो इससे बड़ी देशभक्ति नहीं हो सकती

लेखक : सर्वप्रिया सांगवान एक न्यूज़ चैनल पर मेरे रिपोर्टर दोस्त ने CRPF के जवान से बात की जो पाकिस्तान हाई कमीशन के दफ़्तर के बाहर सुरक्षा के लिए खड़े थे. विडंबना यही थी कि पाकिस्तान की साज़िशों ने उनके…

क्या हम इन शहादतों की क़ीमत समझ रहे हैं?

हमारे 40 जवान शहीद हुए हैं. उन्होंने ये शहादत इसलिए दी कि ये देश बचा रहे, इसकी एकता और अखंडता बची रहे. कोई भी जवान जब कश्मीर जैसी बारूदी घाटी पर तैनाती के लिए निकलता तो अपना कफ़न साथ लेकर…

सेना के अपने इंफॉर्मर्स, खुफिया एजेंसियों के बावजूद इस तरह का हमला?

कहने का जोखिम लेना पड़ेगा. सेना पर हर हमले के साथ मुसलमानों पर निंदा करने का अतिरिक्त दबाव आ जाता है. वर्ना उन्हें चिन्हित किया जाएगा. उसके बाद बारी लिबरलों/वामपंथियों की आती है. देखा जाएगा, वो क्यों नहीं बोल रहा/रही….

जवानों पर हमले का दृश्य देखकर लोग रो रहे हैं, सत्ता को यह रुदन सुनाई देना चाहिए, आओ सामूहिक रुदालियाँ गाएं

आवेश तिवारी श्रीनगर में सीआरपीएफ़ के बहादुर जवानों पर हमले के पीछे केवल आतंकी नहीं है बल्कि इंटेलिजेंस एजेंसियों और उच्चाधिकारियों की घोर लापरवाही भी है| यह हमला हमारी सुरक्षा एजेंसियों की कार्यशैली पर भी सवाल खड़ा करता है और…

वेलेंटाइन डे पर भगत सिंह के नाम पर झूठे प्रपंचों में न पड़ें

हर साल जब वेलेंटाइन डे आता है तो एक मैसेज भी हमारे यारे-प्यारे साथी हमें भेज देते हैं, जिसमें लिखा होता है कि करोड़ों भारतीय 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे के रूप मनाते हैं, लेकिन बहुत ही कम युवा पीढ़ी…

ओले गिरने पर दिल्ली की तुलना शिमला-मसूरी से करने वालों ये ओले किसानों के लिए काल हैं

नोएडा की ओलावृष्टि की जो तस्वीरें वायरल हो रही हैं, डराने वाली हैं। ओलों का मतलब फसलों की, मतलब किसानों की पिटाई। किसी आश्रयहीन रास्ते में ओलों के बीच फंस जाने वाले व्यक्ति और पशु-पक्षियों के लिए भी स्थिति भयावह…

अंबानी का नाम सुनते ही रिटेल ई-कामर्स जगत में सबको सांप सूंघ गया है

भारत के सालाना 42 लाख करोड़ से अधिक के खुदरा बाज़ार में घमासान का नया दौर आया है। इस व्यापार से जुड़े सात करोड़ व्यापारी अस्थिर हो गए हैं। मुकेश अंबानी ने ई-कामर्स प्लेटफार्म बनाने के एलान ने खलबली मचा…

क्या इस लिए हमारे जीनियस भारतीय पुलिस सेवा में जाते हैं?

भारतीय पुलिस सेवा का अपना इतिहास है। यह एक गर्वीली सेवा है। मैंने अपने पत्रकारिता के 35 साल के जीवन में अनेक मौक़ों पर आईपीएस अफ़सरों को सेना से भी अधिक सुयोग्य देखा है। लेकिन ताज़ा घटनाक्रम बताता है कि…

डियर पांच बेटियों के पापा…

रितिका यहां पांच बेटियां लिखना इसलिए ज़रूरी लगा क्योंकि पांच बेटियों का होना ही आपको खास बनाता है। रश्मि, रितिका, गोदावरी, शिप्रा और कावेरी ये पांचों नाम आपने खुद रखे थे न| यहां मुझे चर्चा उन बातों की करनी ही…

बीमा का मतलब अस्पताल और इलाज नहीं होता, कुछ और होता है!

हर साल बजट आता है। हर साल शिक्षा और स्वास्थ्य में कमी होती है। लोकप्रिय मुद्दों के थमते ही शिक्षा और स्वास्थ्य पर लेख आता है। इस उम्मीद में कि सार्वजनिक चेतना में स्वास्थ्य से जुड़े सवाल बेहतर तरीके से…