लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Latest post

मोदी ने नाम के आगे चौकीदार इसलिए लगाया है ताकि यह चुनाव चुट्कुला बनकर रह जाए

अब जब प्रधानमंत्री मोदी और पूरी कैबिनेट, मंत्री परिषद और बीजेपी के सभी पदाधिकारी ट्विटर पर अपने नाम के आगे चौकीदार लगा चुके हैं तो इस बात को तय माना जाये कि चुनाव से पहले अब इस चौकीदारी से निकालना…

कासिम: बेघर बूढ़ा रिक्शा चालक जो बचपन में भूख के कारण लोगों की हवस का शिकार हो गया

लेखक: मोहम्मद अलीशान जाफ़री जिनकी छत आसमां है, बिस्तर ज़मीं, हर दरवाजा बंद है और खबर लेने वाला कोई नहीं हमारी सोच से बहुत दूर, हमारे घरों के ठीक बाहर, एक हिंदुस्तान ऐसा भी है जहाँ सिर्फ़ बेघरों का बसेरा…

सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों का खंडर बनना हरयाणवी, राजस्थानी व अन्य क्षेत्रिय फिल्मों को ले डूबा

कभी कोई जमाना था जब शहर की दीवारों पर सिनेमाघर में लगी हुई फ़िल्मों के बड़े-बड़े पोस्टर लगे हुआ करते थे और 4 शो नीचे लिख कर शो की टाइमिंग लिखी होती थी। उन सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों की आलीशान बिल्डिंग…

चासनाला की खूनी खदान जो 375 मज़दूरों को निगल गई थी, इसी से प्रेरित थी फ़िल्म “काला पत्थर”

27 दिसंबर 1975 को झारखंड के धनबाद से 20 किलोमीटर दूर चासनाला में, कोल इंडिया के अंतर्गत आनेवाली ‘भारत कोकिंग कोल लिमिटेड’ की चासनाला खान के पिट संख्या 1 और 2 के ठीक ऊपर स्थित एक बड़े तालाब में जमा…

IDBI, BSNL, MTNL कर्मचारियों की अज्ञानता और कम राजनीतिक समझ के कारण डूब रही हैं!

IDBI का निजीकरण हो गया है। आप प्लीज़ रूकवा दें। इस तरह के मेसेज मेरे इनबॉक्स में भरे हैं। मेसेज भेजना भी एक किस्म का विरोध कार्य हो गया है। इससे निजी या सरकारी कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों…

जब 2007 वर्ल्ड कप में चिरकुट मानी जाने वाली बांग्लादेश टीम ने इंडियन टीम को हराया था

साल 2007. तारीख़ 17 मार्च. वेस्ट इंडीज़ का पोर्ट ऑफ स्पेन. साढ़े नौ हज़ार के करीब दर्शकों से भरा मैदान. मुक़ाबला था ग्रुप-बी की दो बिल्कुल ही अलग स्तर की टीमों का. भारत और बांग्लादेश. टूर्नामेंट में दोनों ही टीमों…

घूंघट और बुर्के में बंधी औरतों के सात विद्रोह

शायक आलोक कोशा नाम की एक नदी थी कोई जो ठहर गई थी और उसके पश्चिम में कोशारी नाम का गाँव था जो बहने लगा था.. इसी बहते हुए गाँव की ओशिया नामक स्त्री को एक दिन विद्रोह का स्वप्न…

मंटो का ख़त: जब मंटो ने नेहरू को लिखा, “मैं आपका पंडित भाई हूँ, मुझे बुला लीजिए”

देश के पहले प्रधानमंत्री और कांग्रेस के नेता पंडित जवाहरलाल नेहरू इस समय बहस के केंद्र में हैं। कुछ लोग उन्हें खलनायक साबित करने पर आमादा हैं तो कुछ उनका महिमा गान गा रहे हैं। पंडित नेहरू का व्यक्तित्व बेहद…

शीला तो राजनीति में दीक्षित हैं, लेकिन पत्रकारिता में दीक्षित क्यों कांग्रेस की शीला होने को आतुर हैं?

 इस समय कांग्रेस की नेता शीला दीक्षित कुछ ऐसे पत्रकारों के निशाने पर आ चुकी हैं, जो भाजपा-आरएसएस या नरेंद्र मोदी विरोधी हैं। वजह है उनका एक इंटरव्यू, जिसमें उन्होंने कह दिया, “मनमोहन सिंह… शायद मोदी जैसे मज़बूत और दृढ़…

अगर 2024 में चुनाव नहीं होगा तो हमें फ्री की पूड़ी-सब्ज़ी, दारु कौन देगा और नफरत कौन फैलाएगा

“2024 में नहीं होंगे कोई चुनाव” …अरे डर गए क्या? ना..ना डरे नहीं, चुनाव आयोग ने ऐसा कोई ऐलान नहीं किया है भाई. दरअसल ये धांसू आइडिया हमारे प्यारे, साक्षी महाराज जी के दिमाग़ की उपज है. महाराज जी उत्तर…