लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

रिपोर्ट

विस्‍थापित आदिवासियों पर वेदांता के सुरक्षा गार्डों ने चलाई गोली, दो की मौत, 50 घायल

अभी हाल ही में हमारे देश में पाकिस्तान के साथ जंग को समर्थन देकर अपनी देशभक्ति साबित करने की लहर सी चल रही थी। लेकिन यह लहर अपने ही देश में किसानों-मजदूरों- आदिवासियों के साथ हमारे कार्पोरेट समर्थक सरकार की जंग को लेके चुप्पी साध जाती है। इस जंग की सबसे ताजा वारदात घटी आज ओडिशा के कालाहांडी जिले के लांजीगढ़ में जहां वेदांता के प्लांट के लिए अपनी जमीन हार चुके आदिवासी, वेदांता के लांजीगढ़ स्थित रिफाइनरी में नौकरी मांगने पहुंचे और वहां पर सुरक्षा गार्डों ने गोली चला दी।

इस गोलीबारी में दो व्यक्ति की मौत हो गई है और 50 घायल हैं। इस घटना पर बोलते हुए नियामगिरि सुरक्षा समिति से सत्या महार ने बताया कि प्लांट के लिए जमीन देते वक्त इन आदिवासियों से वेंदाता ने वादा किया था कि वह इन्हें शिक्षा, बिजली और पानी मुफ्त में मुहैया करवाएगी। यह अनुबंध कुछ सालों तक तो चला लेकिन अभी कुछ दिनों पहले कंपनी ने एकाएक ने यह सभी सुविधाएं बंद कर दीं। इस वादाखिलाफी से नाराज आदिवासी आज संगठित रूप से कंपनी के प्लांट पर वार्ता कर नौकरी मांगने गए थे, उसी समय यह गोलीबारी हुई जिसमें 50 लोग घायल हैं और दो जानें भी जा चुकी हैं।

घटना के बाद इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है. एक प्रदर्शनकारी ने बताया, ‘हम शांतिपूर्ण धरना दे रहे थे लेकिन पुलिस ने हमें जबरन मौके से हटाने की कोशिश की. जब हमने इसका विरोध किया तो हम पर लाठीचार्ज किया गया. जिसकी वजह से दानी बत्रा की मौत हो गई और बहुत से लोग घायल हो गए.’

नौकरी की मांग कर रहे स्थानीय लोगों ने सोमवार को रिफाइनरी के परिसर में घुसने की कोशिश की जिसके बाद संघर्ष भड़क गया.

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *