लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

100 years of jaliawala bagh

जलियांवाला बाग हत्याकांड के 100 साल पूरे: क्या आज भी काले कानूनों के जरिए जनता का दमन जारी है

आज बैशाखी ही है, 13 अप्रैल 1919 को भी बैशाखी ही थी, जब लोग जलियांवाला बाग में इकट्ठा होकर अंग्रेजी निज़ाम की ज़्यादतियों और काले कानूनों पर चर्चा कर रहे थे। लेकिन अंग्रेजी निज़ाम सत्ता के नशे में चूर था।…