लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Akshay kumar caste nationalism

‘केसरी’ का कोहराम, सिख इतिहास का कत्ल और अक्षय कुमार का देशभक्त बनना!

उर्दू की मशहूर शायर परवीन शाक़िर का एक बहुत सुंदर शेर है : अपने क़ातिल की ज़ेहानत से परेशान हूँ मैं, रोज़ इक मौत नए तर्ज़ की ईजाद करे। कुछ ऐसा ही आजकल इस कालखंड में चल रहा है। अभी…