लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

are-we-really-aware-about-martyrs-life

क्या हम इन शहादतों की क़ीमत समझ रहे हैं?

हमारे 40 जवान शहीद हुए हैं. उन्होंने ये शहादत इसलिए दी कि ये देश बचा रहे, इसकी एकता और अखंडता बची रहे. कोई भी जवान जब कश्मीर जैसी बारूदी घाटी पर तैनाती के लिए निकलता तो अपना कफ़न साथ लेकर…