लोकवाणी

मुख़्तलिफ़ आवाज़, निगाह और विचार

Atul chaurasia

इतना मुश्किल क्यों है मुस्लिम फंडामेंटलिज़्म पर बात करना

मोहम्मद खान से इफ़्तार के दस्तरख्वान पर तफ़सील से बातचीत हुई. देवबंद के कुछ मौलानाओं ने एक फतवा जारी किया था. फतवे का सुर जैसा कि अमूमन होता है, स्त्रीविरोधी, मर्दवादी था. बातचीत लंबी चली तो आरिफ़ मोहम्मद खान के…